Home Health अपनी जिंदगी में खुशियां बढ़ाए|Increase happiness in your life in hindi.

अपनी जिंदगी में खुशियां बढ़ाए|Increase happiness in your life in hindi.

0

जिंदगी में सुकून कैसे आए|और परेशानी दूर कैसे करें|How to relax in life in hindi.

ह़ज़रत इमाम अली रज़ि अल्लाहु ताअला अन्हु के खिदमत में एक शख्स आया और अर्ज़ करने लग… या अली जिंदगी बेसुकून सी बन गई है…कोई सुकून नहीं ना कोई आराम सारा दिन चिड़चिड़ापन और गुस्सा मुझ पर हावी रहता है मैं क्या करूं ,कि मेरी  जिंदगी में सुकून आए और मेरी रवैया अच्छा हो जाए …(How to relax in life)
तो ह़ज़रत इमाम अली रज़ि अल्लाहु ताअला अन्हु ने फ़रमाया ऐ शख्स तुम अपनी खुशियों को पूरा नहीं करते…
मायूसी और चिड़चिड़ापन तुम पर हावी है…
उसने कहा या अली मैं क्या पूरा करूं जो मैं चाहता हूं वह मुझे मिलता ही नहीं… तो ह़ज़रत इमाम अली रज़ि अल्लाहु ताअला अन्हु ने मुस्कुरा कर कहा ऐ शख्स याद रखना जब कोई अपनी खुशी को पूरा करता है तो अल्लाह के करम से इंसान का दिमाग इंसान के उजुद को एक तोहफा देता है…
और उस ईनाम को राहत कहते हैं… एक बात और याद रखना जितनी खुशी इंसान को बड़ी खुशी मिलने पर होती है…
उतनी ही खुशी अल्लाह के करम से इंसान को छोटी-छोटी खुशी पूरी करने पर मिलती है…
यह इंसानों का वहेम होता है के फला चीज मिल जाए तो मैं ताहयात खुश रहूंगा.
जब उससे वह मंज़िल मिलती है तो चंद ही दिनों में वह उसकी आदी हो जाता है… और फिर किसी दूसरे ख्वाहिश के पीछे भागता रहता है.
और यह सिलसिला मरते दम तक खत्म नहीं होता.
लेकिन इंसान का रवैया तब खराब होता है. जब इंसान अपनी छोटी छोटी खुशी को कुर्बान कर के बड़ी खुशी की फिक्र में रहता है…
जो खुशियां तुम हासिल नहीं कर पाते तो उसको अल्लाह पर छोड़ दो लेकिन.
जो हासिल कर सकते हो उसे हासिल करने की कोशिश करो.
जब तुम अपनी छोटी छोटी खुशियों के साथ खुश रहना शुरु कर दोगे तो अल्लाह तुम्हारे बड़े-बड़े खुशियां तुम्हारे कदमों में ला के रख देंगा.
बेशक वह अपने शुक्रगुजार बंदों को पसंद करता है
यह लेख अच्छा लगा तो लाइक शेयर कमेंट जरुर करें.

Read more: story

इसे भी पढ़ें:बेवफा दोस्त को कैसे पहचानें|ह़ज़रत अली|How to Identify An Unfair Friend in hindi.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here