Home हीन्दी कहानीयां चमकते हुए चिराग जिसे पढ़कर आप भी सोच में पड़ जाएंगे

चमकते हुए चिराग जिसे पढ़कर आप भी सोच में पड़ जाएंगे

0
  • चमकते हुए चिराग जिसे पढ़कर आप भी सोच में पड़ जाएंगे

चमकते हुए चिराग जिसे पढ़कर आप भी सोच में पड़ जाएंगे
ह़ज़रतह़ज़रत सय्यिदुना बशर बीन हारस رحمۃ اللّٰہ تعالیٰ تعالیٰ علیہफरमाते है एक मरतबा मैं मुल्क ‌शाम रवाना हुवा।
रास्ते में मेरी मुलाकात एक अजीबो-गरीब सख्श हुआ
उसके जिस्म पर एक फटे पुराने कुर्ता था जीस में जगह जगह गीरह लगी हुई थीं वह बहुत परेशान एक जगह बैठा हुआ था । ऐसा लगता कीसी चीज़ से डरा हुआ है।
मैं उसके पास गया और पुछा ऐ भाई अल्ल्लाह आप पर रह़म फरमाए आप कहां से आए हुए हैं।वो कहने लगा ।
उसी के पास से आया हूं। मैंने पूछा काहा की इरादा है।
कहने लगा उसी की तरफ। मैंने कहा नीजात कीस चीज़ में है। कहने लगा तक़्वा और परहेज़गारी में और उस ज़ात के बारे में गौर व फीक्र करने में जीस के तुम तालीब हो। मैं ने कहा मुझे कुछ नसीहत फरमाए।वह सख्श कहने लगा मैं तुम्हें इस क़ाबील नहीं समझता के तुम नसीहत क़ुबूल करोगे। मैंने कहा इनशाह अल्ल्लाह!
मै नसीहत क़ुबूल करुंगा। यह सुनकर उसने कहा।
लोगों से हमेशा दूर रहना कभी भी इनकी क़ुरबत अख्तियार मत करना। दुनिया से हमेशा बे रगबत
रहना वरना ये तुम्हें हलाक़त में डाल देगी।
जीस ने दुनिया की हकीकत को जान लिया वो कभी भी इनकी तरफ से मुत्मइन नहीं होगा।
जिसने इस की तकलीफ देख लिया उसने उसकी दवाई भी तैयार कर लिया।और जिसने आख़रत को जान लिया उसने उसके हुसूल में मगन हो गया।जो शख्स भी आखिरत की नेमतों में गौर फिक्र करता है वह जरूर उनको तलब करता है।और मुश्किल तरीन आमाल उसके लिए आसान हो जाता है।लिहाजा अकलमंद लोग मख़लुक़ की बजाय ख़लीक़ की तरफ दील लगाए हुए हैं।
उसी की मोहब्बत के असीर हैं और परवरदिगार इन्हें अपनी मोहब्बत की जाम पिलाता है और यह लोग अपनी जिंदगी में हर वक्त उसके मोहब्बत के प्यासे हैं फिर वह मुझसे मुखातिब होकर पूछने लगा क्या तुम इन बातों को समझ चुके हो जो मैंने ब्यान किया। मैंने कहा जो कुछ आपने ब्यान किया है मैं वह तमाम बातें समझ चुका हूं कहने लगा अल्लाह का शुक्र है जिसने तुम्हें यह सब बातें समझा दी ।यह कहते वक्त उसके चेहरे पर एक खुशी की लहर दौड़ गई। फिर उसने सलाम किया और जाने लगा तो मैंने कहा मैं आपके सोह़बत में रहना चाहता हूं। मगर उसने इंकार कर दिया और कहने लगा मैं तुझे याद रखूंगा और तुम मुझे याद रखना यह कह कर वो चला गया और मैं वहीं खड़ा देखता रहा।

  • ह़ज़रत सय्यिदुना बशर बीन हारस رحمۃ اللّٰہ تعالیٰ تعالیٰ علیہफरमाते है ।हजरत सय्यिदुना ईसा बीन युनुस رحمۃ اللّٰہ تعالیٰ تعالیٰ علیہसे मेरी मुलाकात हुई और मैंने यह वाकया सुनाया तो फरमाने लगे उसने तुझसे मोहब्बत का इजहार किया वह बहुत नेक शख्स है उसका शुमार बड़े-बड़े औलिया इकराम में शुमार होता है उसने एक पहाड़ पर रहा इस रखी हुई है वह सिर्फ नमाज़े जुमा के लिए शहर में आता है और उस दिन सूखी लकड़ियां बेचता है। उनसे जो रकम मिलती है वह पूरे हफ्ते किफायत करती है मुझे तो ताज्जुब है कि उसने तुझसे बात की और तुमने उससे सुनी हुई नसीहतों को याद रखा।

दोस्तों अगर अच्छा लगा तो शेयर जरुर कीजिएगा