Home Relationships

बेवफा दोस्त को कैसे पहचानें|ह़ज़रत अली|How to Identify An Unfair Friend in hindi.

0

बेवफा दोस्त को कैसे पहचानें|ह़ज़रत अली|How to Identify An Unfair Friend in hindi.

एक शख्स ह़ज़रत इमाम अली रज़ि अल्लाहु ताअला अन्हु के खिदमत में आया,और रो रो कर अर्ज़ करने लगा या अली मेरे दोस्तों ने मुझे बहुत दुख दिए हैं.आजकल के दौर में इंसान बदल चुके हैं…तो इमाम अली ने कहा ऐ बंदा ए खुदा किसने कहा कि इंसान दुख देतीे हैं इंसान दुख नहीं देते.बलके इंसान से जुड़ी उम्मीदें दुख देती हैं.
तुम किसी से उम्मीद नहीं रखो कोई तुम्हें दुख नहीं देगा…वह शख्स दस्तेअदब जोड़कर के कहने लगा या अली आपने बिल्कुल सही फरमाया…
या अली इब्ने अबी तालिब रज़ि अल्लाहु ताअला अन्हु क्या कोई ऐसा अमल नहीं है जिससे हमे यह मालूम हो जाए कि जिससे हम दोस्ती रखते हैं, वह वफादार दोस्त साबित होगा या बेवफा …
हां अल्लाह की ईल्म में किसी चीज़ की कोई कमी नहीं,अगर तुम यह देखना चाहते हो कि तुम्हारा दोस्त तुमसे वफा करेगा या नहीं.
तो तुम यह देखो तुम्हारा दोस्त हर काम में अपना फायदा देखता है कि तुम्हारा…
हर बात में अपनी खुशी सोचता है या तुम्हारा…
अगर वह हर फायदा सिर्फ अपने खुशी के लिए ज्यादा सोचें तो समझ जाओ इस इंसान के नजदीक अपनी खुशी से ज्यादा कोई नहीं…जब तक तुम उसके लिए खुशी का बायस हो और फायदे का सबब हो तो वह तुम्हारे साथ रहेगा…
लेकिन जब तुम से बेहतर दोस्त उसे मिल जाएगा तो तुम्हें छोड़ देगा…लेकिन अगर कोई इंसान अपने वजूद से ज्यादा अपनी खुशी से ज्यादा तुम्हारा ख्याल रखने लगे, और तुम्हें दुख में देख कर रोने लगे…तुम्हारे फायदे के लिए सोचें .तो समझ जाओ यह इंसान तुम्हारा सच्चा दोस्त साबित होगा…ऐ शख्स एक बात हमेशा याद रखना जो इंसान तुम्हारे आज में तुम्हारा एहसास न करता हो…वह तुम्हारे कल में तुमसे वफा क्या करेगा.
लाइक शेयर कमेंट जरुर करें.
इसे भी पढ़ें:मैं बहुत दौलतमंद होना चाहता हूं.I want to be very wealthy