Home Education मक्खी को कब और क्यों पैदा किया गया|When and why the fly...

मक्खी को कब और क्यों पैदा किया गया|When and why the fly was born in hindi.

0

मक्खी को कब और क्यों पैदा किया गया|When and why the fly was born in hindi.

मक्खी को कब और क्यों पैदा किया गया (When and why the fly was born ) अल्लाह ताअला ने हर चीज़ को किसी न किसी मक़सद के तहत पैदा फरमाया है.आइए हम इस लेख में जानेंगे कि मक्खी को कब और क्यों पैदा किया गया, तो चलिए शुरू करते हैं.

एक मर्तबा एक शख्स ह़ज़रत इमाम अली रज़ि अल्लाहु ताअला अन्हु के ख़िदमत में आया और दस्तेअदब को जोड़कर अर्ज़ करने लगा.

या अली.आप फ़रमाते हैं के अल्लाह ने हर एक चीज़ को किसी न किसी मकसद के लिए पैदा किया है.

तो यह बार बार परेशान करने वाली मक्खी अल्लाह ने क्युं पैदा की… बस यह कहना था तो इमाम अली रज़ि अल्लाहु ताअला अन्हु ने फ़रमाया.

ऐ शख्स उसने दुनिया के हर चीज़ में इंसान के लिए निशानी को पोशीदा रखा..ताकि इंसान अपनी औक़ात जान सके…और अपने खालिक़ व मालिक को पहचान सके.लेकिन अफसोस इंसान नुकसान में है.

जब आदम अलैहिस्सलाम का बेटा कयाम आदम अलैहिस्सलाम के दुआ से आया… जो बड़ा ही मजबूत और पूरे क़बीले का हिफ़ाज़त करता था.

तो जैसे ही थोड़ा सा वक्त गुज़रा तो उसमें तकब्बुर आगया और वह खुद को अज़ीम और आअला समझता था.

वह यह मानता था… मैं जिस चीज़ को चाहूं तोड़ सकता हूं…उखार सकता हूं…मुझसे ज़्यादा ताक़तवर इस ज़मीन पर कोई नहीं.

जब आदम ने उसकी इस बात को समझा तो अल्लाह से दुआ की… ऐ अल्लाह… मेरे बार-बार दुआ के सदके तूने मुझे इतना ताकतवर बेटा तो आता किया…लेकिन यह गुरूर करता है, तकब्बुर करता है.

ऐ मेरे अल्लाह तू किसी ऐसी चीज़ को पैदा कर…जो इसे मालूम करवाएं कि इसकी कोई औक़ात नहीं.

आदम अलैहिस्सलाम की दुआ अल्लाह के दरबार में कुबूल हुई… और अल्लाह ने मक्खी को पैदा किया.

जब कयाम सोता था तो मुखी उसके चेहरे पर बैठ जाती थी उसको परेशान करती थी.

और कयाम उसको मारने की कोशिश करता था. तो उसका अपना ही हाथ खुद उसके चेहरे पर ही लगता था…और वह उठ जाता था परेशान होता था.

युं ह़ज़रत आदम अलैहिस्सलाम अपने बेटे को समझाने लगे…

ऐ कयाम तू इतना ताक़तवर होते हुए भी इस छोटी सी मक्खी पर अख्तियार नहीं रखता.

तो सोच इतनी बड़ी कायनात पर जो अख्तियार रखता है.
वह कितना ताकतवर होगा…

जैसे ही कयाम ने इस बात को समझा तो उसने तकब्बुर से तौबा कर ली.

यह लेख अच्छा लगा तो लाइक शेयर कमेंट जरुर करें.और अपने दोस्तों के साथ शेयर भी करें.

यह भी पढ़ें:कुत्ता और मुर्गी का वाकिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here