Home Knowledge

Allah ne Jism ko Mati se Kiyo banaya – जिस्म मिट्टी का क्यों है.

0

Allah ne Jism ko Mati se Kiyo banaya अल्लाह ने इंसान को मिट्टी से क्यों बनाया?

इमाम अली रज़ि अल्लाहु ताअला अन्हु के ख़िदमात में एक शख्स आया, और दस्तेअदब को जोड़ कर अर्ज करने लगा या अली! अल्लाह ने इंसान को मिट्टी से क्यों बनाया? Allah ne Jism ko Mati se Kiyo Banaya

बस यह कहना था तो इमाम अली रज़ि अल्लाहु ताअला अन्हु ने फ़रमाया क्योंकि इस ज़मीन पर सबसे अनमोल मिट्टी है।

तो वह कहने लगा या अली! इस ज़मीन पर सबसे अनमोल मिट्टी है वह कैसे?

बात जब यहां तक पहुंची तो इमाम अली रज़ि अल्लाहु ताअला अन्हु ने फ़रमाया, अफसोस है के इंसान हर उस चीज़ को अनमोल समझता है, जो उसके पास कम है, या नहीं है।
लेकिन अल्लाह के नजदीक ऐसा नहीं।

ऐ शख्स याद रखना मिट्टी के अस्तित्व में अल्लाह ने करीमी रखी। देखो हर चीज़ का अस्ल मिट्टी है। एक बीज को तुम मिट्टी में बो दो तो यह मिट्टी उस बीच का वृक्ष बना कर देती है।

Allah ne Jism ko Mati Kiyo banaya

इंसान सोना चांदी इसलिए क़िमती समझते हैं। क्योंकि इंसानों के पास यह कम है।

बताओ अगर यह ज़मीन पूरी सोने की होती तो क्या इंसान इस ज़मीन पर अनाज बो कर रिज़्क़ (रोज़ी रोटी) पा सकता? नहीं।

अल्लाह ने इस ज़मीन को मिट्टी का इसलिए रखा ताकि गरीब से गरीब इंसान भी अपना पेट भर सके।

ऐ शख्स देखो हर चीज़ का अस्ल मिट्टी है। आज जो तुम अनाज खाते हो, ये मिट्टी का अक्स है।

इस अनाज का कल मिट्टी था।
और इस अनाज का आने वाला कल भी मिट्टी का बन जाएगा।

ये जो फल, वृक्ष ये जो कपड़े जो तुम सब देखते हो, इसका अस्ल मिट्टी है।

अल्लाह ने मिट्टी को करीम रखा। तभी इंसान के जिस्म पे कोई चोट लगती है, तब इंसान का जिस्म जो मिट्टी का बना है, उसे सही करने लगता है।

अल्लाह ने आरिफ की आंखों को रोशन कर दिया। वो मिट्टी की कीमत को समझता है।

लेकिन जाहिल,
दुनिया को दिखाने के लिए,
अल्लाह के क़ीमती चीज़ को हकीर (कमतर) समझता है।
और हकीर (कमतर) चीजों को
क़ीमती समझता है।
अफसोस है कि इंसान नुकसान में है।

यह लेख अच्छा लगा तो अपने दोस्तों के साथ शेयर भी करें।

यह भी पढ़ें:-Brain Sharp | Bacho ka Dimag Tez kaise Kare | बच्चों का दिमाग तेज़