Home Health किसी भी चीज को लम्बे समय तक कैसे याद करें|how to improve...

किसी भी चीज को लम्बे समय तक कैसे याद करें|how to improve your memory in hindi

0

किसी भी चीज को लम्बे समय तक कैसे याद करें|how to improve your memory in hindi

memory अगर आप किसी चीज को याद करते हैं.और सही वक्त आने पर उस चीज को भूल जाते हैं,तो यह लेख आपके लिए है.
किसी भी चीज को फ़ास्ट में याद करने के कुछ तरीके होते हैं.अगर आप उन तरीकों को जान लेंगे तो किसी भी चीज को बहुत देर तक याद रख सकेंगे.
असल में हम किसी भी चीज को याद कम करते हैं रटा ज्यादा लगाते हैं.
हम किसी भी चीज को रटा मार के याद करने की कोशिश करते हैं.
और सही वक्त आने पर फिर भूल जाते हैं. अगर आप किसी भी चीज को याद करने का सही तरीका जान लो तो आप किसी भी चीज को लंबे समय तक याद रख सकते हैं.
जिस तरह हमारे मोबाइल के दो स्टोरेज होते हैं. इंटरनल स्टोरेज और एक्सटर्नल स्टोरेज,
इसी तरह हमारे दिमाग की भी दो स्टोरेज होते हैं. एक होती long term memory दुसरी होती है Short term memory .किसी भी चीज को लम्बे समय तक कैसे याद करें|how to improve your memory in hindi
हमारे Short term memory में वह चीज स्टोरेज होती है जिनकी हमें ज्यादा देर तक जरूरत नहीं होती,जैसे कि सड़क पर चलती हुई लाल बाइक देखना.
और दूसरी होती है long term memory में वह चीजें स्टोरेज होती है.जिनकी हमें लंबे समय तक जरूरत पड़ती है.और वह चीजें हमे कभी नहीं भूलती,
हमारे long term memory मे वह चीज स्टोरेज होते हैं जो बिल्कुल अलग होती हैं,
या जिस चीज़ को हमारी दिमाग पहली दफा एक्सपीरियंस करता है,मिसाल के तौर पर अगर आप कभी हज पर गए हैं वह चीज आप कभी नहीं भूलते.
अब मसला यह है कि हम जो भी चीज याद करते हैं वह जाता है हमारी शॉर्ट टर्म मेमोरी में.
और हमारी शॉर्ट टर्म मेमोरी कुछ देर बाद खत्म कर देती है.
पहली बात तो यह अगर आप किसी चीज को रटोगे रटा मारोगे तो कभी भी लॉन्ग टर्म मेमोरी में नहीं जाएगी.वह चीज आपके शॉर्ट टर्म मेमोरी में ही रहेगी.
जब तक वह आपके शॉर्ट टर्म मेमोरी में रहेगी उस वक्त तक आपको बड़े अच्छे तरीके से याद रहेगी. लेकिन जब शॉर्ट टर्म मेमोरी में से उठ जाएगी. फिर कभी याद नहीं आएगी.
उसे आप एकदम ही भूल जाओगे.
अब किसी भी चीज को लॉन्ग टर्म मेमोरी में भेजने की जो ट्रिक्स है.वह आपको बता देता हूं.
पहली टिर्क है ऊंचा बोल कर पढ़ना आप जिस भी चीज को पढ़ते हैं, उसे ऊंचा बोलकर पढ़ा करो.
अब आप में से कुछ लोग कहेंगे कि हम पहले ही ऊंचा बोलकर पढ़़ते हैं,लेकिन हमें याद नहीं होता.
हां भाई यह बात ठीक है, कि हम में से ज्यादातर लोग ऊंचा बोल कर पढ़ते हैं लेकिन हमें फिर भी चीजें याद नहीं होती फिर भी अपना स्कूल का काम याद नहीं होता.
असल टीर्क यह है कि ऊंचा बोल कर अपनी आवाज को अपने दाएं कान में जाने दो आप अपने मुंह पर हाथ रख सकते हो.
ताकि जो कुछ पढ़ो तो आप  के दाएं कान में जाए, क्योंकि साइंटिस्ट की स्टडी के मुताबिक जो चीजें हमारे दाएं कान में जाती है,वह हमें ज्यादा देर तक याद रहती है.
हमारा दाया कान हमारे लॉन्ग टर्म मेमोरी से जुड़ा हुआ है.शायद इसीलिए जब बच्चा पैदा होता है तो उसके दाएं कान में अजान दी जाती है.
इस कान वाले ट्रिक के बाद जो ट्रिक है,
वह है आप जो चीज को याद कर रहे हो.
उसे ज्यादा यूनिक बनाने की कोशिश करो किसी भी चीज को यूनिक बनाने के लिए आप अलग-अलग रंगों के हाइलाइटर इस्तेमाल कर सकते हैं.
आप अपनी किसी भी पहली पैराग्राफ को येलो कलर के हाइलाइटर से रंग दो और बाद वाली तीन लाइनों को रेड कलर हाइलाइटर से रंग दो.
उसके बाद बाली तीन लाइनों को ग्रीन हाइलाइटर से रंग दो.
इस तरह आपके दिमाग को एक यूनिक चीज मिलेगी वह उसे जल्दी याद करने की कोशिश करेगा आप जरा इमेजिंग करो…
आप किसी पार्क में रोजाना जाते हो वहां पर काला रंग के बहुत सारे कुत्ते होते हैं.अब एक दिन आप गए वहां बहुत सारे काले कुत्ते के बीच एक वाइट कुत्ता भी था तो फिर क्या वह भुलेगा वाइट कुत्ता वह कभी भी नहीं भूलेगा…
इसी तरह जो यूनिक चीजें होती हैं.
जो अलग चीजें होते हैं.
वह हमारे लॉन्ग टर्म मेमोरी में जल्दी चली जाती है.
इसीलिए किसी भी टॉपिक को ज्यादा से ज्यादा यूनिक बनाने की कोशिश करो…
आप उसे फिजिकली भी यूनिक बना सकते हैं. और पढ़ते हुए भी उसे यूनिक पढ़ सकते हैं.
अब इस ट्रिक के बाद जो ट्रिक है वह है आप अपने आप को पढ़ाओ.
हमारा दिमाग किसी भी ऐसी चीज को लॉन्ग टर्म मेमोरी में नहीं भेजता.जो किलियर नहीं होती,
अगर कोई टॉपिक आपके दिमाग में मुकम्मल क्लियर है तो वह आपके लॉन्ग टर्म मेमोरी में चला जाएगा.
और अगर आपने उसे रटा हुआ है और वह मुकम्मल क्लियर नहीं है क्या आपके शौर्ट टर्म मेमोरी में रहेगा और कुछ देर बाद वहां से खत्म हो जाएगा.
हमारा कोई भी टॉपिक उस वक्त क्लियर होता है. जब हम किसी को पढ़ाते हैं और अगर आपके पास पढ़ाने के लिए कोई शख्स नहीं होगा,लेकिन आप खुद तो उस वक्त मौजूद होंगे.
इसलिए आप ने जो पढ़ा है जो समझा है वह खुद को पढ़ाना शुरू कर दीजिए.खुद को भी समझाना शुरू कर दिया करो.
अगर सैंपल वे में बोलूं.
जो कुछ आपने पढ़ा है उसे अपने आपको खुद समझाओ.
अपने आपको टीच करो अगर आप कोई टॉपिक पढ़ने के बाद अपने आप को पढ़ाते हो तो चांसेस बहुत ज्यादा हो जाते हैं कि वह चीजें आपके.
लॉन्ग टर्म मेमोरी में चली जाएगी और वैसे भी आप अपने आप को समझाओगे तो इस से आपका कॉन्फिडेंस लेवल भी बढ़ेगा.
हमारे दिमाग के अंदर billions of neurons है जब आप किसी चीज को पढ़ते हैं और फिर खुद उस चीज को समझते हो अपने आप को पढ़ाते हो उससे हमारे दिमाग के billions of neurons कनेक्शन एकदम मजबूत हो जाते हैं.
जुड़ जाते हैं.
और फिर जब आप किसी चीज को कुछ दिन के बाद डिवाइस नहीं करते तो फिर neurons कनेक्शन कमजोर होने लगते हैं.
अगर आप किसी टॉपिक को पढ़ने के बाद एक माह के अंदर 6 बार रिवाइज कर लोगे तो ऐसे neurons कनेक्शन बन जाएगी जो कभी भी कमजोर नहीं होंगे.
तो फिर आप अपने दिमाग के न्यूरॉन्स कनेक्शन को मजबूत करना चाहते हो तो अपने आप को समझाना शुरू कर दो जो कुछ आप पढ़ते हो उसे अपने आप को समझाना शुरू कर दो.किसी भी चीज को लम्बे समय तक कैसे याद करें|how to improve your memory in hindi
इस ट्रिक के बादवाली ट्रिक है पढ़ने के बाद सोना.
देखो भाई यह जो हमारा दिमाग है इसकी भी कुछ कुवानीन है आपका दिमाग हर समय शौर्ट टर्म मेमोरी से लॉन्ग टर्म मेमोरी में नहीं भेजता.और नहीं हर वक्त न्यूरॉन्स कनेक्शन बनाता रहता है.
जब आप सो जाते हो तो उस वक्त आपका दिमाग यह सारे काम करता है.अगर आप सीमपल वे में कहो तो सारा दिन डाटा इनफार्मेशन शार्ट टर्म मेमोरी में रखते रहते हो.
और फिर जब आप सो जाते हो तो हमारा दिमाग उस शार्ट टर्म मेमोरी में से
जो अच्छी लगती है जो इंफॉर्मेशन युनिक होती है. उसे उठाकर टर्म मेमोरी में भेज देता है.
और वह चीज आपको याद रहती है.
इसीलिए किसी भी टॉपिक को याद करने के बाद सोना बहुत ज्यादा जरूरी है.और जो चीज आपने नया सीखा होता है.
हमारा दिमाग सोने के बाद उसे न्यूरॉन्स कनेक्शन बनाना शुरु कर देता है.
अगर आप किसी टॉपिक को याद करने के बाद सोते नहीं हो फिर बहुत ज्यादा चांसेस बढ़ जाते हैं के आप उस टॉपिक को भूल जाओगे.
अगर आप इन चीजों को फॉलो करते हुए किसी चीज को याद करोगे तो बहुत ही ज्यादा चांसेस बढ़ जाएंगे की डेटा आपकी लॉन्ग टर्म मेमोरी में चला जाए
और आप उस चीज को बहुत ज्यादा लंबे समय तक याद रख सको.
अगर यह लेख अच्छा लगा तो लाइक शेयर कमेंट जरुर करें