Education

एक गैर मुस्लिम ने एक बुज़ुर्ग से तीन सवाल पूछे? जिनका जवाब सुनकर वह मुसलमान हो गया.

एक गैर मुस्लिम ने एक बुज़ुर्ग से तीन सवाल पूछे? जिनका जवाब सुनकर वह मुसलमान हो गया.

एक गैर मुस्लिम ने एक बुज़ुर्ग से तीन सवाल पूछे? जिनका जवाब सुनकर वह मुसलमान हो गया.एक शख्स जो गैर मुस्लिम है .उसने एक बुजुर्ग से कहा आप मेरे इस तीन सवाल का जवाब दे दें,तो मैं मुसलमान हो जाऊंगा.

पहला सवाल: वह शख्स ने कहा, जब हर काम अल्लाह की मर्जी से होता है,तो तुम इंसान को जिम्मेदार क्यों ठहराते हो?

दूसरा सवाल: जब शैतान आग का बना हुआ है तो उस पर आग (जहन्नम में) कैसे असर करेगी?

तीसरा सवाल: जब तुम्हें अल्लाह ताआला नज़र नहीं आता तो उसे क्यों मानते हो?

फिर वह बुजुर्ग ने एक मिट्टी का ढेला उठाकर उस शख्स को मारा…
इस से उस शख्स को बहुत गुस्सा आया और उसने काज़ी की अदालत में मुक़दमा दर्ज कर दिया.

काज़ी ने उस बुजुर्ग को बुलाकर उससे पूछा तुमने इस गैर-मुस्लिम की सवाल की जवाब में मिट्टी का ढेला क्यों मारा?

उस बुजुर्ग ने कहा यह इसकी तीनों सवाल का जवाब है, काज़ी ने कहा वह कैसे?

बुजुर्ग ने कहा इसके पहले सवाल का जवाब यह है कि यह ढेला मैंने अल्लाह की मर्जी से मारा है, तो फिर इसका जिम्मेदार मुझे क्यों ठहराता है.

इसके दूसरे सवाल का जवाब यह है ,कि इंसान तो मिट्टी से बना है तो फिर मिट्टी के ढेले ने इस पर किस तरह असर किया.

और इसके तीसरे सवाल का जवाब यह है, कि जब इसे दर्द नज़र नहीं आता तो इसे महसूस किस तरह होता है.

अपने सवालों का जवाब सुनकर वह गैर मुस्लिम फौरन मुसलमान हो गया.

तो दोस्तों जो लोग अल्लाह ताआला के लिए अपनी जिंदगी वक्फ कर लेते हैं,तो अल्लाह रब्बुल इज्जत उसकी तरबीयत करते हैं.

और किस मौक़े पर क्या बात करनी है अल्लाह ताअला समझा देता है.

लाइक शेयर कमेंट जरुर करें.

इसे भी पढ़ें: अपनी जिंदगी में सफल होने के लिए कीस तरह डिसीजन लें, ताकि हम अच्छे से कामयाब हो सकें?

Related Articles

6 Comments

  1. I think this is among the most important information for
    me. And i am glad reading your article. But wanna remark on some general things, The website style is wonderful, the articles is really great
    : D. Good job, cheers

  2. I seldom leave comments, however i did a few searching and wound up
    here एक गैर मुस्लिम ने एक बुज़ुर्ग
    से तीन सवाल पूछे? जिनका जवाब
    सुनकर वह मुसलमान हो गया..
    And I do have a couple of questions for you if you don’t mind.

    Could it be just me or does it look like a few of these comments come across like coming from brain dead folks?

    😛 And, if you are posting at additional online
    sites, I would like to follow everything new you
    have to post. Would you make a list of the complete urls of your community sites like your linkedin profile, Facebook page or twitter feed?

  3. Don’t give up even as soon as your prayers are not
    appearing to be answered. Substantial out the threshold and each and every have to bother with
    about them, right? Maybe you started taking your partner for the usage
    of?

  4. We’re a group of volunteers and starting a new scheme in our community.

    Your site offered us with valuable info to work on. You’ve done a formidable job and our whole community will be grateful to
    you.

Back to top button