Education

जो फैसला करता हूं वह मेरे लिए सही है या गलत decide in hindi

फैसले सही करना इन्सान के लिए बेहद ज़रूरी है

फैसले सही करना इन्सान के लिए बेहद ज़रूरी है. अगर इंसान सही फैसले करता है तो उसके लिए आगे चलकर बेहतर साबित होता है.

अगर इंसान फैसले सही नहीं लेता है,तो उसको आगे चलकर परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है.इस लेख में हम आज पढ़ेंगे कि हम किस तरह से सही फैसले ले सकते हैं.तो आइए शुरू करते हैं.

एक शख्स ह़ज़रत इमाम अली रज़ि अल्लाहु ताअला अन्हु की ख़िदमत में परेशानी के आलम में आया.और अर्ज़ करने लगा या अली इब्ने अबी तालिब रज़ि अल्लाहु ताअला अन्हु,

मैं जिंदगी के बड़े-बड़े फैसले हमेशा ग़लत किया करता हूं, मुझे पता नहीं चलता मैं जो फैसला (decide) करता हूं वह मेरे लिए सही है या गलत.

कोई ऐसा अमल या कोई ऐसी दुआ या कोई ऐसा तरीका बताएं.जिससे मै वक्त से पहले अपने फैसले के बारे में जान सकूं.

तो इमाम अली इब्ने अबी तालिब रज़ि अल्लाहु ताअला अन्हु ने फ़रमाया ऐ बंदा ए खुदा.

अगर तुम यह जानना चाहते हो के यह फैसला तुम्हारे हक़ में बेहतर होगा कि नहीं.

तो सोने से पहले 7 मर्तबा सूरह फातिहा पढ़ कर दुआ मांगो ऐ मेरे अल्लाह तु मलकूलरोया के तवस्सुत से ख़्वाब यह बता यह फैसला बेहतर है या बेहतर नहीं.

और फिर दुआ मांग कर सो जाओ ख्वाब में अगर फूल पत्ते अच्छा माहौल खुशबू देखो तो यह समझ जाओ यह फैसला तुम्हारे लिए अच्छा साबित होगा.

लेकिन अगर ख्वाब में आग खून लड़ाई मरना परेशानी देखो तो समझ जाना वह फैसला आने वाले वक्त में तुम्हारे लिए बेहतर नहीं.

बेशक अल्लाह अपने बंदों की रहनुमाई करता है. इंशाल्लाह

लाइक शेयर कमेंट भी करें.

More:ज़िन्दगी

यह भी पढ़ें:हमारे बाल सफेद क्यों होते हैं?Why are our hair white in hindi

यह भी पढ़ें:सफाई सुबह करो जिस घर में बद्दुआ हो उस घर में बरकत नहीं होती in hindi.

Related Articles

Back to top button
Close
Close