Hindi Kahani

  • Feb- 2020 -
    10 February
    Photo of Story of bear and farmers in Hindi – भालू और किसान की कहानी

    Story of bear and farmers in Hindi – भालू और किसान की कहानी

    भालू और किसान की कहानी एक किसान अपना खेत जोत रहा था। अचानक कहीं से भालू आ गया, भालू किसान को मारने के लिए झपटा, मुझे क्यों मारते हो फसल आने दो जो कहोगे वही खिलाऊंगा। किसान ने कहा। यह सुनकर भालू ने किसान के सामने एक शर्त रखी, उसने किसान से कहा ज़मीन के ऊपर की फसल मेरी और ज़मीन के नीचे की फसल तुम्हारी रहेगी। किसान ने कहा ठीक है। किसान काफी होशियार था, उसने आलू बो दिए,…

    Read More »
  • Oct- 2019 -
    7 October
    Photo of भेड़िया आया भेड़िया आया – best story in Hindi kahani कहानी।

    भेड़िया आया भेड़िया आया – best story in Hindi kahani कहानी।

    भेड़िया आया भेड़िया आयाभेड़िया आया best story भेड़िया आया best story: एक चरवाहा लड़का गांव के पास स्थित एक पहाड़ी पर रोज अपने भेड़ चराने ले जाता था। एक दिन उसे गांव वालों से मज़ाक करने की सुझी। वह जोर-जोर से भेड़िया आया भेड़िया आया चिल्लाने लगा। चरवाहे की बातें सुनकर गांव वाले दौड़कर पहाड़ी पर पहुंचे, गांव वाले के पहुंचने पर चरवाहे मुस्कुराते हुए बोला भेड़िया तो आया ही नहीं मैंने तो मज़ाक किया था। गांव वाले अपना सा…

    Read More »
  • Sep- 2019 -
    21 September
    Photo of पड़ोसियों के हक

    पड़ोसियों के हक

    पड़ोसियों के हक पड़ोसियों के हक इमाम अली रज़ि अल्ल्लाहु ताअला अन्हू रस्ते से गुजर रहे थे, देखा, एक शख्स अपने पड़ोसी से लड़ रहा था, इमाम अली करीब गए और फ़रमाया, ऐ बंदा ए खुदा तुम्हारे पेशानी पर यह सजदे का निशान, यह बता रहा है कि तुम चाहते हो कि तुम्हें जन्नत मिले, अल्लाह तुम से राज़ि हो। वह दस्तेअदब को जोड़कर कहने लगा हां या अली, मेै दिन-रात अल्लाह की इबादत करता हूं। फीर इमाम अली ने…

    Read More »
  • 15 September
    Photo of chidiya ki nasihat – चिड़िया की नसीहत भरी कहानी in hindi.

    chidiya ki nasihat – चिड़िया की नसीहत भरी कहानी in hindi.

    chidiya ki nasihat – चिड़िया की नसीहत भरी कहानी in hindi. चिड़िया की नसीहत भरी कहानी in hindi. एक समय की बात है किसी जंगल में एक शिकारी ने चिड़ियां पकड़ने के लिए जाल बिछाया। इत्तेफाक से एक चिड़िया उस जाल में फंस गई। शिकारी ने उस चिड़िया को पकड़ लिया। चिड़िया ने उस शिकारी से कहा ए इंसान तूने कई बकरे, हिरन, मुर्गा बगैरा खाए हैं। इन चीज़ों के मुक़ाबले में मेरी क्या हक़ीक़त है। ज़रा सा गोश्त मेरी…

    Read More »
  • Feb- 2019 -
    12 February
    Photo of hum mushibat aur pareshani Se Kaise bache – remove troubles, in Hindi.

    hum mushibat aur pareshani Se Kaise bache – remove troubles, in Hindi.

    हेलो दोस्तो आज हम लेकर आए हैं एक ऐसी कहानी जो उन लोगों के लिए है,जो किसी की परेशानी को दूर नहीं करते,अगर हम खुद मुसीबत और परेशानी से बचना चाहते हैं। तो हमें चाहिए कि मुसीबत में पड़े लोगों की मदद करें। तो चलिए शुरू करते हैं। किसान और उसका बेटा और चुहा: एक किसान और उसका बेटा एक थैली खोल रहे थे, वहीं पर एक चूहे ने दीवार में से झांक कर देखा, उस थैली को देखकर चूहे…

    Read More »
  • Dec- 2018 -
    30 December
    Photo of hazrat dawood alaihissalam ka waqia| बारह हज़ार लोग बंदर बन गए,in Hindi

    hazrat dawood alaihissalam ka waqia| बारह हज़ार लोग बंदर बन गए,in Hindi

    hazrat dawood alaihissalam ka waqia| बारह हज़ार लोग बंदर बन गए,in Hindi. आज क़ुराने पाक के ऐसी वाक्य पढ़ना है, जिसमें 12000 बारह हज़ार लोग बंदर बन गए, जी हां! हमारी इसी दुनिया में यह वाकया पेश आया, और इसकी तफ्सील क़ुराने पाक में मौजूद है, और यह कब हुआ, और क्यों हुआ, और ये किनके साथ हुआ. रिवायत है कि हज़रत दाऊद अलैहिस्सलाम की कौम के 70000 सत्तर हजार आदमी उक़बा के पास समुंदर किनारे इला नामी गांव में…

    Read More »
  • Nov- 2018 -
    10 November
    Photo of The story of the smart goat In Hindi, होशियार/अक्ल मंद बकरी की कहानी.

    The story of the smart goat In Hindi, होशियार/अक्ल मंद बकरी की कहानी.

    The story of the smart goat In Hindi,होशियार/अक्ल मंद बकरी की कहानी. एक बकरी घास चरती फिर रही थी, वह बहुत खुश थी, खुब छलांगें लगा रही थी. उसे यह खबर नहीं थी कि करीब ही भेड़ियों का जत्था उसकी ताक में है. जो उसे खा जाएगी. बकरी घास खाने में मगन थी कि उसके कान में भेड़ियों की गड़गड़ाहट आई, उसने चौंक कर देखा के भेड़ियों ने उसे घेर रखा है, अब जान बचाने के लिए बकरी के पास…

    Read More »
  • Oct- 2018 -
    29 October
    Photo of Ek badshah aur three wazir एक बादशाह और तीन वजीर का दिलचस्प वाकया.

    Ek badshah aur three wazir एक बादशाह और तीन वजीर का दिलचस्प वाकया.

    Ek badshah aur three wazir एक बादशाह और तीन वजीर का दिलचस्प वाकया. एक बादशाह ने तीन वजीर को अपने दरबार में बुलाया, और तीनों को यह हुक्म दिया कि तीनों एक एक थैला लेकर बाग में दाखिल हो और वहां से बादशाह के लिए मुख्तलिफ और अच्छे अच्छे फल जमा करें. वजीर बादशाह की इस अजीब हुकुम पर हैरान रह गए और तीनो थैला पकड़कर अलग अलग बाग में दाखिल हो गए, पहले वजीर ने कोशिश की कि बादशाह…

    Read More »
  • 6 October
    Photo of Story of duck and his egg in hindi | बत्तख और मुर्गी के दिलचस्प कहानी

    Story of duck and his egg in hindi | बत्तख और मुर्गी के दिलचस्प कहानी

    Story of duck and his egg in hindi|बत्तख और मुर्गी के दिलचस्प कहानी. एक समय की बात है एक बतख नदी किनारे रहती थी बतख हमेशा बीमार रहती थी एक दिन उसकी तबीयत ज्यादा ख़राब हो गई तो वो डॉक्टर के पास गई, डॉक्टर ने बताया कि तुम्हारी बीमारी ऐसी है कि तुम जल्द मर जाओगी, उसे यह सुनकर बड़ी सदमा हुई, क्योंकि उसके पास एक अंडा था.उसे बड़ी फिक्र हुई के अगर मै मर गई तो इस अंडे का…

    Read More »
  • 1 October
    Photo of Interesting story of turtle and vulture in hindi.

    Interesting story of turtle and vulture in hindi.

    कछुआ और गिद्ध की दिलचस्प कहानी इस दुनिया में हर तरह के लोग पाए जाते हैं,कोई बड़ा काम कर रहा है, तो कोई छोटा काम कर रहा है, कोई बहुत अमीर है, तो कोई बहुत गरीब है, किसी के पास बहुत बढ़िया हुनर(skills and abilities) है, तो किसी को अच्छा काम करना नहीं आता, लेकिन जिसके पास हुनर(skills and abilities)कम है, वह शायद यह सोचता हो, काश मैं भी कुछ बढ़िया कर सकता, कुछ अच्छा कर सकता, जो दूसरे लोग…

    Read More »
  • Sep- 2018 -
    30 September
    Photo of dost ki fitrat sabaq amoz kahani in hindi

    dost ki fitrat sabaq amoz kahani in hindi

    दोस्त की फितरत सबक अमोज कहानी,dost ki fitrat|sabaq amoz kahani in hindi. एक जंगल में एक मेंढक और बिच्छू की दोस्ती हो गई साहिल किनारे बिच्छू और मेंढक बातें किया करते थे, एक दूसरे का ख्याल रखा करते थे, कसमें खाया करते थे कि एक दूसरे का ख्याल रखेंगे. लेकिन एक दिन ज़ोरों की बरसात बरसी बिच्छू घबराया और इधर उधर भागने लगा मेंढक ने कहा ऐ मेरे दोस्त घबरा क्यों रहे हो मैं हूं ना, तुम मेरे पीठ पर…

    Read More »
  • 22 September
    Photo of The story of the Panchatantra in hindi

    The story of the Panchatantra in hindi

    पंचतंत्र की कहानी मूर्ख घोड़ा बहुत समय पहले किसी जंगल में एक सुल्तान नाम का घोड़ा रहता था सुल्तान को घास खाना बहुत अच्छा लगता था वह जहां रहता था वहां बहुत हरी भरी घास थी वह घास बहुत ही स्वादिष्ट और नशीली थी. सुल्तान वे घास बहुत चाव से खाता था सुल्तान की जिंदगी बहुत चैन से गुजर रही थी कि एक दिन उसी जंगल में एक विशाल हाथी आ गया हाथी घूमता हुआ उस जगह पर पहुंचा जहां…

    Read More »
  • 20 September
    Photo of Honesty and perseverance can be successful in hindi.ईमानदारी का इनाम.

    Honesty and perseverance can be successful in hindi.ईमानदारी का इनाम.

    ईमानदारी और लगन हो तो एक न एक दिन कामयाबी जरूर मिलती है. ईमानदारी का इनाम.ईमानदारी और लगन हो तो एक न एक दिन कामयाबी जरूर मिलती है इंसान को खुशी जरुर मिलती है.(Honesty and perseverance can be successful in hindi.ईमानदारी का इनाम.) एक गांव में अब्दुल्ला नाम के एक पेंटर रहा करता था. वे बहुत ईमानदार था लेकिन बहुत गरीब होने के कारण वह घर घर जाकर पेंट किया करता था. उसकी आमदनी बहुत कम थी बहुत मुश्किल से…

    Read More »
  • 20 September
    Photo of greedy man in hindi. लालची आदमी की कहानी?

    greedy man in hindi. लालची आदमी की कहानी?

    greedy man in hindi.लालची आदमी की कहानी? एक आदमी नारियल बेच रहा था उसके पास एक ग्राहक आता है और  वह पूछता है , ग्राहक: नारियल का क्या भाव है!नारियल बेचने वाला ने कहा₹10 का एक है.ग्राहक ने कहा बहुत महंगी है सस्ता नहीं हो सकता क्या! नारियल बेचने वाला ने कहा तुम्हें सस्ता चाहिए तो दूसरे दूकान से खरीद लो! ग्राहक कुछ दूरी पर नारियल के दूसरे दुकान पर जाता हैग्राहक: नारियल कैसे बेच रहे हो!दूकानदार: वह बोलता है…

    Read More »
  • 14 September
    Photo of khargosh aur Kachua ka motivational kahani in hindi खरगोश और कछुआ

    khargosh aur Kachua ka motivational kahani in hindi खरगोश और कछुआ

    khargosh aur Kachua ka motivational kahani in hindi खरगोश और कछुआ. khargosh aur Kachua ka motivational kahani खरगोश और कछुआ. एक समय की बात है एक जंगल में कछुआ धीरे धीरे चल रहा था.दूर से खरगोश देखा और तेजी से उसके पास गया,और हंसता हुआ कहने लगा कितना यह धीरे चलता है, इसके पांव में तो ताक़त ही नहीं. खरगोश कछुए क़रीब आकर मज़ाक उड़ा कर कहने लगा मुझसे रेस लगाओगे.(Let me race.) कछुआ ने अपने नज़र उठा कर देखा…

    Read More »
  • 2 September
    Photo of Lesson of dog | आबीद और कुत्ते का सबक़ आमोज़ कहानी, in hindi

    Lesson of dog | आबीद और कुत्ते का सबक़ आमोज़ कहानी, in hindi

    आबीद और कुत्ते का सबक़ आमोज़ कहानी, Lesson of Abeed and dog in hindi हम तुझी को पूजे और तुझी से मदद चाहें. न मोह़ताज रख तू जहां में किसी का.हमें मुफलिसी से बचना या इलाही. हमें ज़िन्दगी के कई मोड़ पर इम्तिहानों का सामना करना पड़ सकता है. और हमें चाहिए कि इस इम्तिहान के दौर मेंहम सब्र का दामन मज़बूती से थामे रखें. बेशक अल्लाह अपने बंदों की मदद फरमाता है. तो चलिए शुरू करते हैं. एक आबिद…

    Read More »
  • Jul- 2018 -
    25 July
    Photo of चुगलखोर और किसान का वाक्या, किस तरह पूरे रिश्तेदार को आपस में लड़ाता है

    चुगलखोर और किसान का वाक्या, किस तरह पूरे रिश्तेदार को आपस में लड़ाता है

    चुगलखोर और किसान का वाक्या, किस तरह पूरे रिश्तेदार को आपस में लड़ाता है कीसी गांव में एक चुगल खोर रहता था। दूसरों की चुगली खाना उसकी आदत थी. वह बहुत कोशिश किया लेकिन फिर भी वह आदत नहीं छोड़ सका।इसी आदत की वजह से उसे अपनी नौकरी से भी हाथ धोना पड़ गया।कुछ दिन वह अपनी जमा पूंजी पर गुजर बसर करता रहा।फिर जब नौबत फाकों तक आ गया तो उसने उस गांव छोड़कर कहीं और कीसमत आजमाने का…

    Read More »
  • 24 July
    Photo of बादशाह और दो परिंदों की दिलचस्प वक्या

    बादशाह और दो परिंदों की दिलचस्प वक्या

    बादशाह और दो परिंदों की दिलचस्प वक्या एक बादशाह को परिंदा रखने और पालने का बड़ा शौक था। उसको एक दोस्त बादशाह ने दो चील (एक परिंदा है) भिजवाए, उस बादशाह को यह तोहफा बहुत पसंद आया। उसने अपने दोस्त शहंशाह को शुक्रिया का एक खत लिखा। उसने अपने एक होनहार गुलाम को दरबार में बुलाया और उससे बोला, इन दोनों चिलें (परिंदा)की बखूबी देखभाल करनी है। और इनको एक बहुत बड़े और आलीशान बाग में रखना है। जहां वह…

    Read More »
  • 19 July
    Photo of नेक दिल बादशाह और फकीर की वाक्या

    नेक दिल बादशाह और फकीर की वाक्या

    नेक दिल बादशाह और फकीर की वाक्या नेक दिल बादशाह और फकीर की वाक्या किसी मुल्क में एक बादशाह हुकूमत करता था। वह अपनी रियाया में हर दिल अजीज था। उसके मुल्क में हर खास व आाम उस से खुश था। और उसका वजीर भी अच्छा था।नेक दिल बादशाह और फकीर की वाक्या बादशाह हर रोज सुबह अल्लाह के नाम लेकर उठता और अपनी प्रजा की भलाई में लग जाता। जिंदगी यूं ही गुजर रही थी कि किसी दुश्मन मुल्क…

    Read More »
  • 17 July
    Photo of मेरी उंगली कट गई और तुम कहते हो इसमें कोई भलाई होगी

    मेरी उंगली कट गई और तुम कहते हो इसमें कोई भलाई होगी

    मेरी उंगली कट गई और तुम कहते हो इसमें कोई भलाई होगी मेरी उंगली कट गई और तुम कहते हो इसमें कोई भलाई होगी एक बादशाह का एक नेक वज़ीर था।जो हर काम में कहता था के इस मे भलाई थी। चाहे नुकसान हो या फायदा वो सबको दरस देता था कि इसमें भलाई है। एक दिन जंग के मैदान में बादशाह की उंगली कट गई। बादशाह तड़प रहा था। तबीब इलाज कर रहे थे।बादशाह के हाथ के पट्टी करने…

    Read More »
  • 17 July
    Photo of मालदार आदमी और मलकुल मौत का वाकिया

    मालदार आदमी और मलकुल मौत का वाकिया

    मालदार आदमी और मलकुल मौत का वाकिया मालदार आदमी और मलकुल मौत का वाकियाएक बुजुर्ग फरमाते हैं हमसे पहले उमतों में एक शख्स था। जिसनेें बहुत सारा माल दौलत जमा किया हुआ था। और उसकी औलाद भी काफी थी।उसे तरह तरह की नेमतें मोयस्सर थी। बहुत सारा माल होने के बावजूद वह निहायत कंजूस था। अल्लाह ताला की राह में वह कुछ भी खर्च नहीं करता था। वह हर वक्त इसी कोशिश में रहता था कि किसी तरह मेरी दौलत…

    Read More »
  • 13 July
    Photo of इंसान की जिंदगी के एक तलख सच्चाई

    इंसान की जिंदगी के एक तलख सच्चाई

    इंसान की जिंदगी के एक तलख सच्चाई इंसान की जिंदगी के एक तलख सच्चाई। अल्लाह ताला ने इंसान को अशरफ उल मखलूकात बनाया है। और इंसान को तमाम जानदारों चरीन्द परीन्द और जीन्नात और जानवरों से अफजल बनाया है। क्या  आपको मालूम है कि इंसान की जिंदगी मोखतलीफ वक्तों में मुख्तलिफ मराहील से गुजरता है। दोस्तों मोलाहीजा करें इंसान की जिंदगी के एक तलख सच्चाई। गधों से कहा गया कि तुम सारा सारा दिन काम करोगे गर्मी सर्दी,बारिश ठंडी।तुम पर…

    Read More »
  • 5 July
    Photo of ईल्म से बड़ी कोई चीज़ नहीं

    ईल्म से बड़ी कोई चीज़ नहीं

    ईल्म से बड़ी कोई चीज़ नहीं ईल्म से बड़ी कोई चीज़ नहीं एक समय की बात है।इरान के बादशाह बहुत परेशान था।युं तो हर तरफ खुशहाली दौर था।लेकिन बादशाह की परेशानी का सबब उसकी एकलौती बेटी शहजादी सना थी। हर बाप की तरह बादशाह भी अपनी बेटी की शादी करके अपना फर्ज अदा करना चाहता था। लेकिन शहजादी सना ने भी अजीब ऐलान कर रखा था ।कि जो शख्स उसके सवालों का दुरुस्त जवाब देगा वह उस से शादी करेंगी।…

    Read More »
  • 4 July
    Photo of कहानी अकलमंद बादशाह की

    कहानी अकलमंद बादशाह की

    कहानी अकलमंद बादशाह की कहानी अकलमंद बादशाह कीबहुत साल पहले दूरदराज मुल्क में एक क़ाइदा था। उस मुल्क के लोग हर साल अपना बादशाह तब्दील करते थे। जो भी बादशाह बनता वह एक अहदनमे पर दस्तक करता।के उसके हुकूमत का एक साल मुकम्मल हो जाने के बाद, वह इस वोहवदे से दस्तबरदार हो जाएगा। और उसको एक दूरदराज जज़ीरा पर छोड़ दिया जाएगा ,जहां से वह कभी वापस नहीं हो सकेगा।जब एक बादशाह का एक साला दौर मुकम्मल हो जाता…

    Read More »
  • 4 July
    Photo of राजा औरंगजेब और उनके शिक्षक मुल्ला अहमद जीवन की कहानी

    राजा औरंगजेब और उनके शिक्षक मुल्ला अहमद जीवन की कहानी

    राजा औरंगजेब और उनके शिक्षक मुल्ला अहमद जीवन की कहानी राजा औरंगजेब और उनके शिक्षक मुल्ला अहमद जीवन की कहानीमुल्ला अहमद जीवन हिंदुस्तान की मुगल सल्तनत के बादशाह हजरत औरंगजेब के उस्ताद थे।औरंगजेब बादशाह अपने उस्ताद का बहुत हेतराम करते थे, और उस्ताद भी अपने शागिर्द पर फख़र करते थे। जब औरंगजेब हिंदुस्तान के बादशाह बने तो उसने अपने गुलाम के जरिए अपने उस्ताद को पैगाम भेजा, कि वह किसी दिन दिल्ली तशरीफ़ लाए और खिदमत का मौका दें। इतफाक…

    Read More »
  • 3 July
    Photo of यह दौलत इसी दुनिया में रह जाने है

    यह दौलत इसी दुनिया में रह जाने है

    यह दौलत इसी दुनिया में रह जाने है यह दौलत इसी दुनिया में रह जाने है,एक बादशाह ने अपनी रीयाया पर बहुत जुल्मों सितम करके बहुत सारा खजाना जमा किया हुआ था। और शहर से बाहर जंगल बियाबान में खुफियां गार में छुपा दिया था। उस खजाने की दो चाबीयां थी एक बादशाह के पास एक उसके वज़ीर के पास, इन दोनों के अलावा किसी को भी इस खुफिया खजाने का पता नहीं था। एक दिन बादशाह अकेला सुबह को…

    Read More »
  • 2 July
    Photo of यह वक्त भी गुज़र जाएगा

    यह वक्त भी गुज़र जाएगा

    यह वक्त भी गुज़र जाएगा यह वक्त भी गुजर जाएगाएक मुल्क में एक बादशाह हुकूमत करता था।खुशहाली के दिन थे।एक दिन को एक दरवेश से मुलाकात हुईएक दिन बादशाह की मुलाकात एक दरवैश बुज़ुरग से हुई, बुजुर्ग बहुत नेक और परहेज़गार था। बादशाह उनसे बहुत इज्जत से पेश आया।और मुलाकात की आखीर में उनसे कहा कि मुझे कोई कोई ऐसी चीज ताबीज वजीफा वगैरा लीख दें जो हमारे मुश्किल वक्त में काम आए। बुजुर्ग खामोश रहे बादशाह का इसरार बढ़ा…

    Read More »
  • 1 July
    Photo of अमल का सजा और जज़ा अल्लाह के पास है

    अमल का सजा और जज़ा अल्लाह के पास है

    अमल का सजा और जज़ा अल्लाह के पास है अमल का सजा और जज़ा अल्लाह के पास हैमेरे मोहतरम और अजीज दोस्तों, आज हमबजाहिर कुछ देख कर या दूसरों से सुनकर,अहम फैसले कर बैठते हैं।खुदाया कीसी को ग़लत समझने स पहलेे देख लिया करें।क्या वह ऐसा है भी या नहीं। तो आज हम इस लेख में पढ़ेंगे इस के बारे में एक समय की बात किसी मुल्क में एक रहम दिल बादशाह हुकूमत करता था। उस बादशाह की आदत थी…

    Read More »
  • Jun- 2018 -
    30 June
    Photo of मेरी उम्मत की सबसे बदतरीन शख्स कौन है

    मेरी उम्मत की सबसे बदतरीन शख्स कौन है

    मेरी उम्मत की सबसे बदतरीन शख्स कौन है मेरे प्यारे भाईयों और दोस्तोंअपने रब के सामने रोना और इतराफे गुनाह करना, आजीज़ी से उसके सामने अपने आप को झुका देना, एक बहुत बड़ा अमल हैं। तो आज हम इस लेख में पढ़ेंगे कि किस तरह एक बदतरीन शख्स बेहतरीन इंसान बन जाता है। एक बार हसरत मूसा अलैहिस्सलाम ने अल्लाह ताला से पूछा या अल्लाह तबारक व ताला मेरी उम्मत की सबसे बदतरीन शख्स कौन है। तो अल्लाह ताला ने…

    Read More »
  • 29 June
    Photo of कुत्ता और मुर्गी का वाकिया

    कुत्ता और मुर्गी का वाकिया

    कुत्ता और मुर्गी का वाकिया कुत्ता और मुर्गी का वाकियाइमाम जलालुद्दीन रूमी एक हिकायत में लिखते हैं, एक शख्स ने हज़रत मूसा अलैहिस सलाम से दरख्वास्त की के उसे चौपाइयों और परिंदों की बोली सिखा दे। आपने उससे मना किया कि यह खतरनाक है और वह उससे दूर रहे। लेकिन वह माना नहीं और बहुत ही ईसरार किया उसकी इसरार करने पर हज़रत मूसा अलैहिस्सलाम ने उसे मुर्गा और कुत्ते की बोली सिखा दी। लिहाजा सबसे फायदेमंद सुबह जब दस्तरख्वान…

    Read More »
  • 29 June
    Photo of सांप और मोर को जन्नत से क्यों निकाला गया

    सांप और मोर को जन्नत से क्यों निकाला गया

    सांप और मोर को जन्नत से क्यों निकाला गया। सांप और मोर को जन्नत से क्यों निकाला गया। सांप और मोर पहले जन्नत में ही रहते थे। इस वाक्य को समझने के लिए इस आर्टिकल को पूरी पढ़ना जरूरी है। तो आइए शुरू करते हैं। शैतान मरदूद हो गया तो उसने हजरत आदम अलैहीस्सलाम को जन्नत में सजदा करने से इनकार कर दिया तो अल्लाह ताला ने शैतान को जन्नत से बेदखल कर दिया। जन्नत में खाने पीने घूमने फिरने…

    Read More »
  • 28 June
    Photo of एकता की ताकत Strength of unity

    एकता की ताकत Strength of unity

    एकता की ताकत Strength of unity एकता की ताकत Strength of unityकिसी कुम्हार के घर में एक बहुत मोटा सांप रहता था ,एक बार वह अपने बिल से निकलकर साथ वाले छोटे से बिल में घुसने लगा तो उसका शरीर घायल हो गया। घायल सांप को देखकर चीटियां उस पर टूट पड़े सांप ने बहुत सी चीटियों को मारा अनेक को कुचला । एकता की ताकत Strength of unity फिर भी वह चीटियों को समाप्त ना कर सका। नहीं वह…

    Read More »
  • 21 June
    Photo of नियत का फल The result of determination

    नियत का फल The result of determination

    नियत का फल The result of determination नियत का फल The result of determination हजरत सुल्तान महमूद गजनबी علیہ الرحمہबहुत ही मशहूर बादशाह गुजरे हैं। एक मर्तबा आप शैर करते हुए एक ऐसे देहात में जा पहुंचे जहां गन्ने बहुत ज्यादा बोए हुए थे। आपने अब तक गन्ना देखा नहीं था।जब आपने गाना चूसा तो बहुत पसंद आया। आपने अपने दिल में सोचा कि गन्ने की पैदावार पर भी लगान मुकर्रर करूंगा ताकि हर साल हमारे शाही खजाने को एक…

    Read More »
  • Apr- 2018 -
    13 April
    Photo of समय ही मेरी असली संपत्ति एवं धन है

    समय ही मेरी असली संपत्ति एवं धन है

    समय ही मेरी असली संपत्ति एवं धन है समय ही मेरी असली संपत्ति एवं धन है। समय में छुपा अवसर अगली बार जब आपको यह लगे कि समय और अवसर के इस बहुमूल्य कर्ता का आप दुरुपयोग कर रहे हैं, उसी समय अपने संकल्प को दोहराइए, मन-मस्तिष्क में बिठाइए और तुरंत ही कार्य आरंभ कर दीजिए। मेरा समय-चिकित्सक के प्रति वचन ‘समय ही मेरी असली संपत्ति एवं धन है।’ 1. समय ही मेरी असली संपत्ति एवं धन है। मैं स्वयं…

    Read More »
  • 1 April
    Photo of जीवन में कई बार हमारे निर्णय हमारे लक्ष्य के अनुसार नहीं होते।

    जीवन में कई बार हमारे निर्णय हमारे लक्ष्य के अनुसार नहीं होते।

    जीवन में कई बार हमारे निर्णय हमारे लक्ष्य के अनुसार नहीं होते जीवन में कई बार हमारे निर्णय हमारे लक्ष्य के अनुसार नहीं होते ऐसे निर्णय ज्यादा दिनों तक नहीं टिकते और जल्दी ही भुला दिए जाते हैं; किंतु जो निर्णय उद्देश्यों को ध्यान में रखकर लिये जाते हैं, वे याद रहते हैं; क्योंकि वे आपके लिए महत्त्वपूर्ण होते हैं। —रे स्टेनडॉल यदि हम समय को लंबाई में नापें तो यह तीन श्रेणियों में विभाजित होता दिखाई पड़ता है—भूत, वर्तमान…

    Read More »
  • 1 April
    Photo of दूसरों के काम में हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए।

    दूसरों के काम में हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए।

    दूसरों के काम में हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए। दूसरों के काम में हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए। एक गाँव के पास, जंगल की सीमा पर, मन्दिर बन रहा था। वहाँ के कारीगर दोपहर के समय भोजन के लिए गाँव में आ जाते थे। एक दिन जब वे गाँव में आए हुए थे तो बन्दरों का एक दल इधर-उधर घूमता हुआ वहीं आ गया जहाँ कारीगरों का काम चल रहा था। कारीगर उस समय वहां नहीं थे। बन्दरों ने इधर-उधर उछलना और…

    Read More »
  • Mar- 2018 -
    31 March
    Photo of ढोल की पोल गीदड़ की कहानी

    ढोल की पोल गीदड़ की कहानी

    ढोल की पोल गीदड़ की कहानी ढोल की पोल गीदड़ की कहानी एक बार भूखा-प्यासा जंगल में घूम रहा था। घूमते-घूमते वह एक युद्धभूमि में पहुँच गया। वहाँ दो सेनाओं में युद्ध होकर शान्त हो गया था। किन्तु एक ढोल अभी तक वहीं पड़ा था। उस ढोल पर इधर-उधर की बेलों की शाखाएँ हवा से हिलती हुई प्रहार करती थीं। उस प्रहार से ढोल से बड़े ज़ोर की आवाज़ होती थी। आवाज़ सुनकर गोमायु बहुत डर गया। उसने सोचा, इससे…

    Read More »
  • 26 March
    Photo of ह़ज़रत जुनैद बग़दादी رحمۃ اللّٰہ تعالیٰ علیہऔर एक डाकू का कीस्सा

    ह़ज़रत जुनैद बग़दादी رحمۃ اللّٰہ تعالیٰ علیہऔर एक डाकू का कीस्सा

    ह़ज़रत जुनैद  बग़दादी رحمۃ اللّٰہ تعالیٰ علیہऔर एक डाकू का कीस्सा ह़ज़रत जुनैद बग़दादी رحمۃ اللّٰہ تعالیٰ علیہऔर एक डाकू का कीस्सा हजरत जुनैद बगदादी رحمۃ اللّٰہ تعالیٰ علیہ के दौर के एक आदमी था। जो बहुत मशहूर डाकु था। और वह अपने इस बुरी आदत से बाज नहीं आता था . किताबों में लिखा है कि उसको ₹16000 दुर्रे लग चुके थे। कभी 100 कभी 200 कभी 50 कभी इतना तो कभी उतना इतनी दूर्रे खाने के बावजूद वह…

    Read More »
  • 25 March
    Photo of वह बहुत सुशील तथा सुन्दर थी

    वह बहुत सुशील तथा सुन्दर थी

    वह बहुत सुशील तथा सुन्दर थी वह बहुत सुशील तथा सुन्दर थी प्राचीनकाल में मिथिलावती नामक नगर में अग्निस्वामी नाम का एक ब्राह्मण रहता था। उसकी एक कन्या थी, जिसका नाम मन्दारवती था। वह बहुत सुशील तथा सुन्दर थी। वह कन्या जब युवती हुई, तब कान्यकुब्ज से तीन ब्राह्मण-पुत्र वहां आए, जो समान भाव से समस्त गुणों से अलंकृत थे। उन तीनों ने ही उसके पिता से, अपने लिए कन्या की याचना की। प्राण देकर भी वे यह नहीं चाहते…

    Read More »
  • 25 March
    Photo of महान विवेकी राजा अनोखा कहानी

    महान विवेकी राजा अनोखा कहानी

    महान विवेकी राजा अनोखा कहानी महान विवेकी राजा अनोखा कहानी शव को लाने के लिए राजा विक्रमादित्य फिर से श्मशान में पहुँचे। उन्होंने वृक्ष की शाखा से शव को नीचे उतारा और पहले की तरह ही उसे कंधे पर डालकर मौनभाव से अपनी मंजिल की ओर चल पड़े। रास्ते में शव में स्थित बेताल ने फिर कहा- ‘राजन्! मैं हैरान हूँ कि जाने किस साधना के लिए आप मुझे ले जाना चाह रहे हैं। फिर भी आपके साहस और हिम्मत…

    Read More »
  • 20 March
    Photo of जो लोग बड़ों की बात नहीं मानते वह सिर्फ धोखा ही खाते हैं

    जो लोग बड़ों की बात नहीं मानते वह सिर्फ धोखा ही खाते हैं

    जो लोग बड़ों की बात नहीं मानते वह सिर्फ धोखा ही खाते हैं एक गांव में रहकर नामक एक बढ़ई था। वह अपनी सुस्ती के कारण काफी गरीब था। उसके सारे साथियों अमीर थे। जिन्हें देखकर वह जलता रहता था। दुखी होकर एक दिन वह गांव छोड़ने पर मजबुर हो गया। वह किसी और शहर को चल पड़ा रास्ते में उसे एक ऊंटनी और उसका बच्चा मिला। वह उन्हें घर लाकर उनका पालन करने लगा। इस प्रकार वह पढ़ई फिर…

    Read More »
  • 19 March
    Photo of धोखेबाज सियार

    धोखेबाज सियार

    धोखेबाज सियार किसी जंगल में चंडक नामक एक श्रृंगाल रहता था। एक बार भूख के कारण एक नगर में घुस गया। बस फिर क्या था। नगर के कुत्ते उसे देखते ही भोंकने लगे कुत्ते उसके पीछे पीछे दौड़ते तथा भोंकते जा रहे थे। वह बेचारा आगे-आगे भाग रहा था। सीयार भागते भागते एक धोबी के घर में घुस गया। धोबी के घर में एक नीला रंग का बड़ा टब रखा हुआ था क्योंकि श्रृंगाल कुत्तों के हमले के डर से…

    Read More »
  • 17 March
    Photo of कोशिश करने से ही क़ामयाबी मिलती है

    कोशिश करने से ही क़ामयाबी मिलती है

    कोशिश करने से ही क़ामयाबी मिलती है। कोशिश करने से ही क़ामयाबी मिलती है। बीहार की श्रयसी सिंह ने 61वी नैशनल शुटीन्ग चैम्पियन शीप में गोल्ड जीतकर एक बार फिर अपनी प्रतिभा का परिचम लहरा दिया है। बीहार की जमुई जिले के छोटे से गांव गध्दौर से निकल कर नैशनल और इंटरनैशनल शुटीन्ग इवेंट में जलवा दिखाने वाली 25साला श्रेयसी सिंह ने साबित कर दिया की लगन और मेहनत हो तो हर मंजिल को फतेह कीया जा सकता है। श्रेयसी…

    Read More »
  • 16 March
    Photo of कल का दरवाज़ा बंद कर दीजिये क्योंकि इस रास्ते पर चलकर मूर्ख लोग मौत के मुँह में समा गये हैं

    कल का दरवाज़ा बंद कर दीजिये क्योंकि इस रास्ते पर चलकर मूर्ख लोग मौत के मुँह में समा गये हैं

    कल का दरवाज़ा बंद कर दीजिये क्योंकि इस रास्ते पर चलकर मूर्ख लोग मौत के मुँह में समा गये हैं आने वाले कल के बोझ को अगर गुज़रे हुये कल के बोझ के साथ आज के दिन उठाया जाये तो शक्‍तिशाली से शक्‍तिशाली आदमी भी लड़खड़ा जायेगा।… 1871 के वसंत में एक युवक ने एक पुस्तक उठायी और उसमें से इक्कीस शब्द पढ़े, इक्कीस ऐसे शब्द जिन्होंने उसके भविष्य पर बहुत गहरा प्रभाव डाला।… वह मेडिकल स्टुडेन्ट मॉन्ट्रियल जनरल हॉस्पिटल…

    Read More »
  • 16 March
    Photo of दुनिया एक ख्वाब है या ढलने वाला साया, बेशक अ़क़्लमन्द ऐसी चीज़ों से धोखा नहीं ख़ाता

    दुनिया एक ख्वाब है या ढलने वाला साया, बेशक अ़क़्लमन्द ऐसी चीज़ों से धोखा नहीं ख़ाता

    दुनिया एक ख्वाब है या ढलने वाला साया,बेशक अ़क़्लमन्द ऐसी चीज़ों से धोखा नहीं ख़ाता दुनिया एक ख्वाब है या ढलने वाला साया।बेशक अ़क़्लमन्द ऐसी चीज़ों से धोखा नहीं ख़ाता। जगह जी लगाने की दुनिया नहीं है।ये इबरत की जा है तमाशा नहीं है। हुए नामवर बेे नीसां कैसे कैसे।ज़मीं खा गई नौजवां कैसे कैसे। जगह जी लगाने की दुनिया नहीं है।ये इबरत की जा है तमाशा नहीं है। जो सख्श चोरी या शराब खोरी या ज़ीना मेंमुब्तिला होकर मरता…

    Read More »
  • Jan- 2018 -
    14 January
    Photo of We should think before doing any work

    We should think before doing any work

    Well should think before doing any work हमें कोई भी कार्य करने से पहले सोचने चाहिए। That was a long time ago. A farmer lived in a small village. His family had his wife and a small child in his family. The farmer used to love his son very much. They say how beautiful our son is. One evening when the farmer returned home, he had a weasel in his hand. His wife asked why you brought it. The farmer replied…

    Read More »
  • 13 January
    Photo of कौवा की कहानी ! और चिड़िया और चींटी की कहानी

    कौवा की कहानी ! और चिड़िया और चींटी की कहानी

    कौवा की कहानी ! और चिड़िया और चींटी की कहानी! चिड़िया और चींटी। दोनों इकट्ठे एक पेड़ पर रहते थे.एक दिन बड़ी जोर की बारिश हुई। और चींटी बहाव में बह गए चिंटी बोला बचाओ-बचाओ यह देखकर चिड़िया ने कुछ पत्ते पानी में फेंके दिए। चींटी ने पत्ते का सहारा लिया और बच निकला। एक दिन शिकारी ने चिड़िया को निशाना लगाया । चींटी ने झट से शिकारी के पांव में काट लिया जिससे शिकारी का निशाना चूक गया ।…

    Read More »
  • 9 January
    Photo of मूर्ख गधा की कहानी

    मूर्ख गधा की कहानी

    मूर्ख गधा की कहानी एक घने जंगल में एक शेर रहता था। और ऊसी जंगल में एक गीदड़ भी रहता था जो उसके लिए कार्य करता था। एक दिन शेर को हाथी से लड़ाई हो गई जिसकी वजह से शेर को बहुत पिटाई लगी है और उसके पैर में चोट भी लगी है जिसकी वजह से उसको चलना फिरना मुश्किल हो गया था। एक दिन शेर गीदड़ से कहता है दोस्त मुझे बहुत दिन हो गए कुछ खाए पिए मुझे…

    Read More »
  • 8 January
    Photo of it is acjective of my life to help others when i help someone i feel happy

    it is acjective of my life to help others when i help someone i feel happy

    it is acjective of my life to help others when i help someone i feel happy एक औरत का मैं वाकिया सुनाता हूं।अमेरिका में एक औरत थी उसकी उम्र 65 साल थी। जब वह रिटायर हुई तो उसे 5 या 6 लाख डॉलर फंड मिले जो रिटायर के फंड होते हैं। और वह अच्छी लाइफ गुज़ार रही थी। बड़ी गाड़ी उसने रखी थी फोर व्हीलर ड्राइव। एक दफा वह कहीं से आ रहीे थीे कि अचानक उसके गाड़ी के टायर…

    Read More »
  • 2 January
    Photo of आज बहुत ही अच्छा शिकार हाथ लगा

    आज बहुत ही अच्छा शिकार हाथ लगा

    आज बहुत ही अच्छा शिकार हाथ लगा मई का महीना और मध्याह्‍न समय था। सूर्य की आँखें सामने से हटकर सिर पर जा पहुँची थीं, इसलिए उनमें शील न था। ऐसा विदित होता था मानो पृथ्वी उसके भय से थर-थर काँप रही थी। ठीक ऐसे ही समय एक मनुष्य एक हिरन के पीछे उन्मत्त भाव से घोड़ा फेंके चला आता था। उसका मुँह लाल हो रहा था और घोड़ा पसीने से लथ-पथ। किंतु मृग भी ऐसा भागता था मानो वायुवेग…

    Read More »
  • 1 January
    Photo of बूढ़े अपने कपूतों के डर से अपना धन उन्हें सौंप देते

    बूढ़े अपने कपूतों के डर से अपना धन उन्हें सौंप देते

    बूढ़े अपने कपूतों के डर से अपना धन उन्हें सौंप देते मुंशी रामसेवक भौंहे चढ़ाए हुए घर से निकले और बोले – इस जीने से तो मरना भला है। मृत्यु को प्राय: इस तरह के जितने निमंत्रण दिए जाते है, यदि वह सबको स्वीकार करती तो आज सारा संसार उजाड़ दिखाई देता। मुंशी रामसेवक चाँदपुर गाँव के एक बड़े रईस थे। रईसों के सभी गुण इनमें भरपूर थे। मानव चरित्र की दुर्बलताएँ उनके जीवन का आधार थी। वह नित्य मुंसिफी…

    Read More »
  • 1 January
    Photo of होनहार लड़का हाथ से निकला जाता है

    होनहार लड़का हाथ से निकला जाता है

    होनहार लड़का हाथ से निकला जाता है चैत का महीना था, लेकिन वे खलिहान, जहाँ अनाज की ढेरियाँ लगी रही थीं, पशुओं को शरणस्थल बने हुए थे, जहाँ घरों से फाग और बसंत की अलाप सुनाई पड़ती थी, वहाँ आज भाग्य का रोना था। सारा चौमासा बीत गया पानी की एक बूँद न गिरी। जेठ में एक बार मूसलाधार वृष्टि हुई थी, किसान फूले न समाए, खरीफ की फसल बो दी, लेकिन इंद्रदेव ने अपना सर्वस्व शायद एक बार ही…

    Read More »
  • Dec- 2017 -
    31 December
    Photo of चमकते हुए चिराग जिसे पढ़कर आप भी सोच में पड़ जाएंगे

    चमकते हुए चिराग जिसे पढ़कर आप भी सोच में पड़ जाएंगे

    चमकते हुए चिराग जिसे पढ़कर आप भी सोच में पड़ जाएंगे चमकते हुए चिराग जिसे पढ़कर आप भी सोच में पड़ जाएंगेह़ज़रतह़ज़रत सय्यिदुना बशर बीन हारस رحمۃ اللّٰہ تعالیٰ تعالیٰ علیہफरमाते है एक मरतबा मैं मुल्क ‌शाम रवाना हुवा।रास्ते में मेरी मुलाकात एक अजीबो-गरीब सख्श हुआउसके जिस्म पर एक फटे पुराने कुर्ता था जीस में जगह जगह गीरह लगी हुई थीं वह बहुत परेशान एक जगह बैठा हुआ था । ऐसा लगता कीसी चीज़ से डरा हुआ है।मैं उसके पास…

    Read More »
  • 10 December
    Photo of जगह जी लगाने की दुनिया नहीं है। ये इबारत की जा है तमाशा नहीं है

    जगह जी लगाने की दुनिया नहीं है। ये इबारत की जा है तमाशा नहीं है

    जगह जी लगाने की दुनिया नहीं है। जगह जी लगाने की दुनिया नहीं है, ये इबारत की जा है तमाशा नहीं है न दील दादएं  शेर गोइ रहेगा,  न गीरवीदए शोहरा जोई रहेगा न कोई रहा है न कोई रहेगा,    रहेगा तो ज़ीकरे नीकोई रहेगा जगह जी लगाने की दुनिया नहीं है, ये इबारत की जा है तमाशा नहीं है जब इस बज़्म में से उठ गए दोस्त अक्सर,  और उठते चलें जा रहें हैं बराबर ये हर वक़्त…

    Read More »
Close
Close
Close Bitnami banner
Bitnami