Home Education

मेरे पास दौलत नहीं टिकते क्या करूं|मुझे सुकून नहीं मेरे पास खुशी नहीं.

10

मेरे पास दौलत नहीं टिकते क्या करूं मुझे सुकून नहीं मेरे पास खुशी नहीं.I do not have any happiness in hindi.

मेरे पास दौलत नहीं टिकते क्या करूं|मुझे सुकून नहीं मेरे पास खुशी नहीं.इस तरह के मसाइल हमारी जिंदगी में अक्सर देखने को मिलते हैं. आज हम इस लेख में जानेंगे कि हम किस तरह  इन मसाइल बच सकते हैं.ताकि हम अपनी जिंदगी को बेहतर बना सके तो चलिए शुरू करते हैं.

इमाम अली रज़ि अल्लाहु ताअला अन्हु के ख़िदमत में एक शख्स आया और दस्तेअदब को जोड़कर अर्ज़ करने लगा.http://www.achhilekh.com/i-do-not-have-any-happiness-in-hindi/

या अली मेरे तीन मसलें हैं….जो सुलझते ही नहीं इमाम अली ने फ़रमाया ऐ शख्स इंसान के वजूद में अल्लाह ने हर मसले का हल रखा है.

लेकिन अफसोस तो यह है कि इंसान समझता ही नहीं.

उसने कहा या अली मेरे मसले कोई मामूली मसले नहीं है.

मेरा पहला मस्ला यह है. मेरे पास दौलत नहीं टिकते मैं नादान हूं.

मेरा दुसरा मसला यह है के कोई मेरी इज़्ज़त नहीं करता.

और मेरा तीसरा मसला यह है कि मुझे सुकून नहीं मेरे पास खुशी नहीं.

बस यह कहना था तो इमाम अली रज़ि अल्लाहु ताअला अन्हु ने फ़रमाया.

ऐ शख्स अगर तुम चाहते हो तुम्हारे पास दौलत रहे तो तुम मसाकिन और गरिबों पर अपने माल में से खर्च करना सीखो.

जब तुम अपने माल में से गरीबों का हिसा रखना शुरु करोगे तो अल्लाह अपने खजाने में से ऐसे दौलत तुम्हें देगा के तुम कभी मुफलिस नहीं कहलाओगे.

और अगर तुम चाहते हो कि अल्लाह तुम्हें इज्ज़त से नवाज़े तो तुम झुकना सीखो.

जो इंसान झुकता है तो अल्लाह उसे ऐसी इज्ज़त देता है के ज़माना उसके सामने झुक जाता है.

और अगर तुम यह चाहते हो कि तुम सुकून में रहो खुश रहो तो तुम तो तुम भूलना सीखो.

जो इंसान लोगों की तल्ख बातों को भूल जाता है तो अल्लाह उसके दिल को सुकून से भर देता है.

यह लेख अच्छा लगा तो लाइक शेयर कमेंट जरूर करें,और अपने दोस्तों के साथ शेयर भी करें.

यह भी पढ़ें:मेरे दोस्त कम दुश्मन ज्यादा होते हैं.

10 COMMENTS

  1. Hello there I am so thrilled I found your website, I really found you by mistake, while I was researching on Yahoo for something else,
    Nonetheless I am here now and would just like to say cheers for a
    fantastic post and a all round exciting blog (I also love the theme/design), I don’t have time to read it all at the
    minute but I have bookmarked it and also added in your RSS feeds, so when I have time I will be back
    to read more, Please do keep up the superb job.

  2. When I originally commented I clicked the “Notify me when new comments are added” checkbox and now each time a comment is added I get three e-mails with the same comment.
    Is there any way you can remove me from that service?
    Bless you!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here