Education

अच्छे बुरे दोस्तों की पहचान

अच्छे बुरे दोस्तों की पहचान

इस दुनिया में हज़ारों क़िस्म के लोग होते हैं.और आप भी कई क़िस्म के लोग से रोज़ाना मिलते होंगे,उससे बात करते होंगे,उसके साथ बैठते उठते होंगे,उसमें बहुत से लोग अच्छे होते हैं,और कुछ कमीने क़िस्म लोग भी होते हैं.तो कमीने लोगों को हम किस तरह से पहचाने.

अच्छे बुरे दोस्तों की पहचान.Identifying Good Bad friends In hindi.

तो आइए हम इसके बारे में कुछ जानकारी हासिल करते हैं तो चलिए शुरू करते हैं.

एक मर्तबा ह़ज़रत इमाम अली रज़ि अल्लाहु ताअला अन्हु,रास्ते से गुज़र रहे थे.
देखा इमाम के एक चाहने वाला बुरे लोगों के साथ बैठा हुआ था.

इमाम अली रज़ि अल्लाहु ताअला अन्हु उसके करीब गए और उसको बुलाया और तन्हाई में नसीहत की,आप ने फरमाया ऐ शख्स याद रखना.

दोस्त इंसान की मिजाज़ का आईना होते हैं.

तुम जैसे दोस्त बनाओगे, यह दुनिया तुम्हारे शख्सियत को तुम्हारे दोस्तों के आमाल के बराबर तौलेगी.

अपने दोस्त ऐसे बनाया करो जिस पर ज़माना फक्र करें.
जिसकी ज़माना तारीफ करें.

जो ज़माने में अच्छे अल्फाज़ से याद किए जाते हो.

और ऐसे दोस्तों से दूर रहो जो मदनाम काम करते हो.
या जो कमजरफ हो.

उस शख्स ने कहा या अली आपने सही फ़रमाया. लेकिन ऐ मेरे इमाम मुझे यह बताइएं कि हमे कैसे पता चले, के यह मेरा दोस्त कमज़रफ है या बाज़रफ?

यह कहना था तो इमाम अली रज़ि अल्लाहु ताअला अन्हु ने फ़रमाया.

कमज़रफ के पहचान यह है.
जब उसको इज़्ज़त मिलेगी तो वह खुद को मोह़तरम समझेगा.
और उसका रवैय्या अल्लाह की मखलूक के साथ खराब होगा.
और उसका अखलाक़ खराब होगा. उसकी सीरत खराब होगी.

लेकिन जो बाजरफ होगा.
वह हमेशा झुक कर चलेगा.
जैसे-जैसे उसकी मंजिले बढ़ती जाएगी.
अल्लाह उसको नेमतें बढ़ाता जाएगा.
और वह और झुकता जाएगा.
उसका अखलाक़ और भी बेहतर होता जाएगा.
और वह दूसरों के दर्द को अपना दर्द समझेगा.

लाइक शेयर कमेंट जरुर करें.
और अपने दोस्तों के शेयर भी करें.

यह भी पढ़ें:ठगों की ठग बुद्धि से बचों क्यूंकि सांप को भी छोटी-छोटी चींटियां खा जाती

यह भी पढ़ें: कामयाबी और कामरानी इज्जत और शोहरत मुझसे कोसों दूर है|success|Fame in hindi.

यह भी पढ़ें:Successful Life

Related Articles

8 Comments

Back to top button
Close
Close