PoetryShayari

Sad Shayari in love Top Poetry

Sad Shayari in love

Wafa Ke es Shahar Mein Ham Jaisa saudagar na Milega
Ham to Ansu bhi khareed lete hain apni Muskurahat dekar…!!

वफा के इस शहर में हम जैसा सौदागर ना मिलेगा,
हम तो आंसू भी खरीद लेते हैं अपनी मुस्कुराहट देकर…!!

Sad Shayari in love

Tumhari Yad Ka Mausam
Kabhi hijrat nahin karta…!!

तुम्हारी याद का मौसम
कभी हिजरत नहीं करता…!!

Karar Milta hi nahi tere bagair
Main Saj sanwar Kar Bhi Udaas rahata hun…!!

Top Poetry Sad Shayari in Hindi & English

करार मिलता ही नहीं तेरे बगैर,
मैं सज संवर कर भी उदास रहता हूं…!

Dil Ko Kaun samjhaye,
Khwab Khwab Hote Hain…!!

Read it: sad shayari: 2 line sad Poetry |heart touching shayari

दिल को कौन समझाए,
ख्वाब ख्वाब होते हैं…!!

बिछड़ के तुझसे अब वो हर किसी से पूछता है,
सुनो वह शख्स था जो तुम मेरा….. कहीं मिला है तुम्हें…!!

Ladte Bhi Tumse Hain,
Marte Bhi Tum per Hain…!!

लड़ते भी तुमसे हैं,
मरते भी तुम पर हैं…!!

Kisi Ajnabi Se Zara Zara…..Huye Aashna To bichhad Gaye

किसी अजनबी से ज़रा ज़रा……हुए आशना तो बिछड़ गए…!!

Bahut gaihre khyalon Mein, Mohabbat ke hawalon mein,
Tumhara naam a Jana Mujhe Achcha sa Lagta…!!

बहुत गहरे ख्यालों में, मोहब्बत के सवालों में तुम्हारा नाम आ जाना मुझे अच्छा सा लगता है…!!

Suno Woh Lamhe bahut Khas Hote Hain,
jin Lamhon Mein Ham Tum sath Hote Hain…!!

सुनो? वो लम्हे बहुत खास होते हैं,
जिन लम्हों में हम तुम साथ होते हैं…!!

Jab mere yaar Se Gira Parde Naqaab Achanak,
full bhi Kahane Lage Kash Ham Bhi Insan Hote…!!

जब मेरे यार से गिरा पर्दा ए नक़ाब अचानक,
फूल भी कहने लगे काश हम भी इंसान होते…!!

Meri Zindagi Ka Hasil Bus Itna hai
Tera Aana Mera Chahna
Aur phir Bhi bichhad Jana…!!

मेरी जिंदगी का हासिल बस इतना है,
तेरा आना मेरा चाहना
और फिर बिछड़ जाना…!!

Read it: Sad Shayari on Love heart touching poetry

खोया मैंने हैं तुम्हें लेकिन,
खसारे (नुकसान) में तुम रहोगे…!!

Jaise Aasan Nahin Har Dard Ka Zahir Hona,
Waise Mumkin Nahin Har shakhs Ka Shayar Hona…!!

जैसे आसां नहीं हर दर्द का जाहिर होना,
वैसे मुमकिन नहीं हर शख्स का शायर होना…!!

kisi baat per Ham jagad perey to Sulah ke khatir,
aye mere hamdam Zara sa main bhi Zara tu bhi jhuka karenge yeh Tay hua tha…!!

किसी बात पर हम झगड़ पड़े तो सुलह के खातिर,
ए मेरे हमदम, ज़रा सा मैं भी ज़रा सा तू भी,
झुका करेंगे, ये तय हुआ था…!!

Agar deta khuda kuchh akhtiyar Ka mojza mujhe,
main apne hathon se apne muqaddar mein likhta use…!!

अगर देता खुदा कुछ अख्तियार का मोजज़ा मुझे,
मैं अपने हाथों से अपने मुकद्दर में लिखता हूं उसे…!!

Read it: Love Shayari Sad Urdu Peotry in Hindi

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close