PoetryShayari

Shayari: Allama Iqbal poetry in Hindi | Beautiful Shayari

Shayari: Allama Iqbal poetry

Beautiful Shayari by allama Iqbal

मरने वाले मरते हैं लेकिन फना होते नहीं
ये हक़ीक़त में कभी हमसे जुदा होते नहीं!!

लुत्फे कलाम क्या जो ना हो दिल में दर्द ए इश्क़
बिस्मिल नहीं है तू, तो तड़पना भी छोड़ दे!!

किसे नहीं है तमन्ना ए सरवरी लेकिन
खुद ही की मौत हो जिसमें वो सरवरी करता है!!

है कभी जाह, और कभी तसलिमे जाह ज़िंदगी
तू इसी पैमाना ए अमरूज़ और फरदा से नाप!!

Read it: Love Quotes: Top hindi Love Quotes Status

Related Articles

तू मेरी रात को मेहताब से महरूम न रख
तेरे पैमाने में है माहे तमाम ऐ साक़ी!!

परवाने की मंज़िल से बहुत दूर है जुगनू
क्यों आतीशे बेसोज़ पर मगरूर है जुगनू!!

आंख को बेदार कर दे वादा ए दीदार से
ज़िंदा कर दे दिल को सोज़े जोहर गुफ्तार से!!

Read it: Shayari: dard bhari Shayari | 2 line heart touching poetry

अब कोई आवाज़ सोतो को जगा सकती नहीं
सीना ए वीरान में जाने रफ्ता आ सकती नहीं!!

काफ़िर की ये पहचान के आफाक़ में गुम है
मोमिन की ये पहचान के गम उसमें है आफाक़!!

कब डूबेगा सरमाया परसती का सफीना
दुनिया है तेरी मुंतज़िर रोज़े मकफात!!

दिल मुर्दा दिल नहीं है इसे जिंदा कर दोबारा
के यही है उम्मतों के मर्ज कहन का चारह!!

खुल नहीं सकती है शिकायत के लिए लेकिन जुबान
हे खजा का रंग भी वजहे क़यामत गुलिस्तान!!

हो मेरा काम ग़रीबों की हिमायत करना
दर्द मंदो से ज़इफ़ों से मोहब्बत करना!!

हो मेरे दम से यूं ही मेरे वतन की ज़ीनत
जिस तरह फूल से होती है चमन की ज़ीनत!!

मेरे अल्लाह बुराई से बचाना मुझको
नेक जो राह हो उस राह पर चलाना मुझको!!

Read it: sad shayari: 2 line sad Poetry |heart touching shayari

Related Articles

17 Comments

Back to top button