Hindi Kahani

Story of bear and farmers in Hindi – भालू और किसान की कहानी

भालू और किसान की कहानी

एक किसान अपना खेत जोत रहा था।
अचानक कहीं से भालू आ गया, भालू किसान को मारने के लिए झपटा, मुझे क्यों मारते हो फसल आने दो जो कहोगे वही खिलाऊंगा। किसान ने कहा।

यह सुनकर भालू ने किसान के सामने एक शर्त रखी, उसने किसान से कहा ज़मीन के ऊपर की फसल मेरी और ज़मीन के नीचे की फसल तुम्हारी रहेगी। किसान ने कहा ठीक है।

किसान काफी होशियार था, उसने आलू बो दिए, जब फसल तैयार हुई तो किसान को आलू और भालू को पत्ते खाने को मिले। भालू चिड़ कर रह गया।

अगली बार भालू ने कहा देखो, इस बार ज़मीन के नीचे की फसल मेरी और ऊपर की तुम्हारी होगी, किसान राज़ी हो गया।

यह भी पढ़ें: chidiya ki nasihat – चिड़िया की नसीहत भरी कहानी in hindi.

इस बार किसान ने गेहूं बो दिया। जब फसल तैयार हुई तो किसान को मिले चमकीले गेहूं, और भालू को मिली खाली जड़े। बेचारा भालू फिर चिड़चिड़ा कर रह गया।

इस बार भालू ने किसान को मज़ा चखाना चाहा। ज़मीन के ऊपर तथा ज़मीन के नीचे दोनों फसल मेरी, किसान मान गया।

इस बार किसान ने मक्का बो दिया जब फसल तैयार हुई। किसान को मिला मिला मक्का, और भालू को फिर जड़े, और पत्ते मिले। भालू का सिर चकरा गया और वह वहां से भाग गया।

इस तरह किसान ने बड़ी होशियारी के साथ भालू से अपनी जान बचाई।

हेलो फ्रेंड यह कहानी अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ शेयर भी करें।

यह भी पढ़ें: भेड़िया आया भेड़िया आया – best story in Hindi kahani कहानी।

Back to top button